Prime Minister Narendra Modi Target On Congress Dreams Of Youth Were Destroyed Due To Scams | PM Modi: पीएम मोदी का कांग्रेस पर निशाना, कहा

Date:


Madhya Pradesh Startup Policy: कांग्रेस की पिछली सरकारों पर निशाना साधते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने शुक्रवार को कहा कि देश में 1990 के दशक के दौरान सूचना प्रौद्योगिकी (Information Technology) (आईटी) क्रांति से बने माहौल को भुनाया नहीं जा सका और बड़े घोटालों, नीतिगत लकवे तथा भाई-भतीजावाद के चलते युवाओं की एक समूची पीढ़ी के सपने तबाह हो गए.

उन्होंने यह भी कहा कि उनकी सरकार द्वारा तय दिशा में स्पष्ट लक्ष्य और सोची-समझी रणनीति के साथ शुरू किए गए प्रयासों के कारण पिछले आठ साल के दौरान देश में मान्यताप्राप्त स्टार्टअप की तादाद 300-400 से बढ़कर करीब 70,000 पर पहुंच गई है और हर आठ से 10 दिन के भीतर एक स्टार्टअप ‘‘यूनिकॉर्न’’ में तब्दील हो रहा है, यानी इस कंपनी का मूल्यांकन बढ़कर 7,000 करोड़ रुपये का स्तर पार कर रहा है.

भारत में अब हैं कितने स्टार्टअप ?

मोदी ने मध्य प्रदेश सरकार की नयी स्टार्टअप नीति और इसकी कार्यान्वयन योजना की वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिये औपचारिक शुरुआत के दौरान नये उद्यमियों को संबोधित करते हुए ये बातें कहीं. उन्होंने कहा कि 2014 में जब हमारी सरकार आई थी तब देश में स्टार्टअप की तादाद 300-400 तक सीमित थी और उद्योग जगत के तकनीकी गलियारों को छोड़कर अन्य क्षेत्रों में स्टार्टअप की चर्चा तक नहीं होती थी. लेकिन आठ साल के छोटे-से कालखंड के बाद आज देश में करीब 70,000 सरकारी मान्यता प्राप्त स्टार्टअप हैं और हमारा देश दुनिया में तीसरा सबसे बड़ा स्टार्टअप पारिस्थितिकी तंत्र बन चुका है.

मोदी ने कहा कि भारत के युवाओं में नवाचारी विचारों से समस्याओं के समाधान की ललक हमेशा रही है और इसका अनुभव हमने देश की आईटी क्रांति के शुरुआती दौर में भी किया. लेकिन दुर्भाग्यपूर्ण है कि उस दौर में हमारे युवाओं को (सरकार द्वारा) जरूरी प्रोत्साहन और समर्थन नहीं दिया गया. उन्होंने 1990 के दशक की ओर साफ इशारा करते हुए कहा कि देश में आईटी क्रांति से बने माहौल को सही दिशा दिए जाने की जरूरत थी, लेकिन ऐसा नहीं हो सका.

नीतियों के अभाव में उलझ गया भारत का स्टार्टअप 

प्रधानमंत्री ने कहा कि हमने देखा कि एक पूरा दशक बड़े-बड़े घोटालों नीतिगत लकवे और भाई-भतीजावाद की भेंट चढ़ गया जिससे एक समूची पीढ़ी के सपने तबाह हो गए जबकि उस समय भी हमारे युवाओं के पास नवाचारी विचार थे. लेकिन ये विचार पहले की सरकारों के कार्यकाल के दौरान उचित नीतियों के अभाव में उलझकर रह गए.

मोदी ने कहा कि उनकी सरकार ने नीतिगत प्रोत्साहन, बुनियादी ढांचे के विकास और सरकारी प्रक्रियाओं के सरलीकरण के जरिये नवाचार के लिए युवाओं की मानसिकता में बदलाव किया, जिससे आज स्टार्टअप आम लोगों की रोजमर्रा की बातचीत का हिस्सा और सामान्य भारतीय नौजवान के सपने पूरे करने का सशक्त माध्यम बन गए हैं.

लगातार उभर रहे हैं नये उद्यम

प्रधानमंत्री ने देश के छोटे शहरों और कस्बों तक स्टार्टअप के तेज विस्तार को रेखांकित करते हुए कहा कि मौजूदा स्टार्टअप 50 से ज्यादा उद्योगों से जुड़े हैं और कृषि, खुदरा कारोबार व स्वास्थ्य के क्षेत्रों में लगातार नये उद्यम उभर रहे हैं.

Delhi Fire: मुंडका मेट्रो स्टेशन के पास लगी भयंकर आग, धूं-धूं कर जली तीन मंजिला इमारत, देखें दिल दहलाने वाली तस्वीरें

Delhi Fire: मुंडका मेट्रो स्टेशन के पास इमारत में लगी भीषण आग, झुलसकर 26 लोगों की मौत, बचाव कार्य जारी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Share post:

Subscribe

spot_imgspot_img

Popular

More like this
Related

IPL Debut Of Sachin Tendulkar Son Arjun Tendulkar Cartoonist Irfan Cartoon

Arjun Tendulkar IPL Debut: आईपीएल में इस बार मुंबई...

Covid-19 Update India Reports 1829 Fresh Covid Cases And 33 Deaths

Covid-19 in India: दुनियाभर में कोरोना महामारी से...

Rajasthan Kota Rat Bites Woman Eye In Govt MBS Hospital Health System

Rajasthan Health System: राजस्थान के कोटा से एक ऐसी...
Chat With Me
1
Hello
TechnoZ
Hello 👋
Can we help you?
Technoz (Web Development)